फरीदाबाद विस्तार से

स्थापना – 2 अगस्त 1979

हरियाणा का सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला

साक्षरता दर –70 प्रतिशत

उप-मंडल –फरीदाबाद, बल्लभगढ़

तहसील –फरीदाबाद, बल्लभगढ़

उप-तहसील –मोहना, तिगाँव

खंड –फरीदाबाद, बल्लभगढ़

✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️

👉👉फरीदाबाद का नामकरण

👉 इस शहर से पहले यहां एक गांव था, जिसमें 14वीं सदी के प्रसिद्ध साहित्यकार ईसरदास रहते थे। फरीदाबाद का नामकरण जहांगीर के कोषाधिकारी शेख फरीद द्वारा 1607 में किया गया। इसके निकट के ही सीही गांव में सूरदास का जन्म हुआ था। सन 1947 में स्वतंत्रता प्राप्ति के समय फरीदाबाद एक अविकसित क्षेत्र था। आज फरीदाबाद को औद्योगिक नगरी होने का गौरव प्राप्त है। यहां की जनसंख्या वृद्धि दर भी सबसे ज्यादा तेज है। इसके पूर्व में सदाबहार यमुना नदी है।

शहरीकरण में फरीदाबाद सबसे आगे है। यह हरियाणा राज्य का प्रथम जिला है जिसकी जनसंख्या 20 लाख से अधिक है। इस जिले में मलिन बस्तियां भी सबसे अधिक हैं। यहां के प्रमुख पर्यटन स्थलों में बड़खल झील प्रमुख है। किशोरी महल एक प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है।

✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️

👉👉फरीदाबाद के प्रमुख उद्योग

👉इनियरिंग उद्योग

👉 एस्कॉर्ट ट्रैक्टर

👉चिकित्सा उपकरण उद्योग

👉 रबड़ टायर उद्योग

👉बाटा चप्पल उद्योग

👉राजदूत मोटरसाइकिल उद्योग

👉पॉवरलूम उद्योग

👉ट्यूबवेल उद्योग

👉प्लास्टिक उद्योग

👉ट्रेक्टर उद्योग

👉काली मेहंदी उद्योग

✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️

👉👉फरीदाबाद के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल

👉👉बाबा फरीद टोम्ब

👉एसी अवधारणा है कि सूफी संत बाबा फरीद ने फरीदाबाद नगर की स्थापना धौज झील फरीदाबाद जिले का यह गांव अरावली पर्वतमाला में सोहना-फरीदाबाद मार्ग पर स्थित है। पर्वतारोहण के लिए यह एक उपयुक्त स्थान है, जहां लगभग 250 ऐसी पर्वतीय स्थल है, जो पर्वतारोहियों के लिए एक विशेष आकर्षण उत्पन्न करते हैं। यहां की धौज नामक झील एक अत्यंत दर्शनीय झील है । यह गुंबद स्थानीय लोगों के लिए एक तीर्थ स्थल है।

👉👉बड़खल झील

👉इसका अर्थ होता है दूर तक फैला हुआ। बड़खल झील दिल्ली-मथुरा राष्ट्रीय राजमार्ग से मात्र 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। वर्ष 1947 में सिंचाई परियोजना के अंतर्गत इसका निर्माण किया गया था, जिसका उद्देश्य भूमि के कटाव को रोकना था। इस झील पर 6445 मीटर लंबा और 6 मीटर चौड़ा बांध बनाया गया है।

👉👉धौज झील

👉 फरीदाबाद जिले का यह गांव अरावली पर्वतमाला में सोहना-फरीदाबाद मार्ग पर स्थित है। पर्वतारोहण के लिए यह एक उपयुक्त स्थान है, जहां लगभग 250 ऐसी पर्वतीय स्थल है, जो पर्वतारोहियों के लिए एक विशेष आकर्षण उत्पन्न करते हैं। यहां की धौज नामक झील एक अत्यंत दर्शनीय झील है।

👉👉दाऊजी मंदिर, बंचारी

👉फरीदाबाद से लगभग 5 किलोमीटर दूर जी टी रोड पर स्थित बंचारी ग्राम में दाऊजी का मंदिर स्थित है। यह श्री कृष्ण के भाई बलराम की याद में बनाया गया।

👉👉बल्लभगढ़

👉 यह फरीदाबाद का सबसे बड़ा शहर है। राजा नाहर का महल और रानी का महल यहीं पर स्थित है। गुडवियर कंपनी टायर व JCB का निर्माण बल्लभगढ़ मे हीं होता है।

👉👉सूरजकुंड

👉 इस कुंड का निर्माण तोमर वंश के राजा सूरजमल ने करवाया था। यहां पर हर वर्ष 1987 से सूरजकुंड मेले का आयोजन किया जा रहा है। यह अरावली पर्वत श्रंखला के पास स्थित है और यह मानव द्वारा निर्मित झील है। यहां थोड़ी दूर बड़खल गांव भी है। इस गांव का नाम है पार्शियन भाषा से लिया गया है। यहां पर मयूर झील भी है और सनबर्ड मोटर भी स्थित है।

👉👉राजा नाहर सिंह की हवेली

👉 यह हवेली बल्लभगढ़ में दुर्ग प्राचीर के भीतर स्थित है। इसके किले को बनवाने की योजना राजा बल्लु के शासनकाल में बनाई गई थी, जिसे उसके पुत्र किशन सिंह ने पूरा करवाया था।

👉👉ख्वाजा की सराय

👉 फरीदाबाद जिले के गांव सराय ख्वाजा में लगभग 300 वर्ष पुरानी एक सराय है। इस सराय के नाम पर ही गांव का नाम सराय ख्वाजा पड़ा। यह सराय पीर ख्वाजा ने बनवाई थी।

👉👉सूरदास जन्मस्थली

👉बल्लभगढ़ के निकट स्थित सीही ग्राम सूरदास की जन्मस्थली मानी जाती है। यह साहित्यकारों का आराध्य स्थल है और सूरदास के जन्मदिवस पर यहां साहित्य कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

👉👉अरावली का गोल्फ मैदान

👉 नेशनल हाईवे नंबर 2 से सटा हुआ यह गोल्फ मैदान बहुत ही सुंदर मैदान है, जिसका डिजाइन अमेरिका के स्टीफन के. ने बनाया है।

👉👉सौंधाढ

👉फरीदाबाद से 65 किलोमीटर दूर इस ग्राम में पत्थर पर उत्कीर्ण शिल्प की अनेक कलाकृतियां मिली हैं।

✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️

👉👉फरीदाबाद के प्रसिद्ध मेले

👉कनुआ का मेला

👉सती का मेला

👉बाबा उदासनाथ का मेला

👉कान्हा गौशाला का मेला

👉बलदेव छठ का मेला

👉फुलडोर का मेला

👉झरना मेला

👉दिगम्बर जैन का मेला

👉कार्तिक संस्कृत का मेला

✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️

👉👉फरीदाबाद के प्रमुख खेल का मैदान।

👉हरियाणा राज्य खेल परिसर स्टेडियम

👉मोहर सिंह स्टेडियम

👉मयूर स्टेडियम

👉अंतरराष्ट्रीय खेल परिसर

✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️

👉👉फरीदाबाद के प्रमुख विश्वविद्यालय

👉👉इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी 👉1969, जिसका नया नाम जगदीश चंद्र बसु है।

👉👉राष्ट्रीय समन्वित पेस्ट मैनेजमेंट शोध संस्थान 1988

👉मानव रचना इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी
👉फरीदाबाद में मानव रचना शिक्षण संस्था को अक्टूबर 2008 में मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा डीम्ड यूनिवर्सिटी का दर्जा प्रदान किया गया और इसका नाम मानव रचना इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी रखा गया।

👉लिंगया विश्वविद्यालय – 1997

👉यंग मैन क्वेश्चन एसोसिएशन (YMCA)

✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️

👉👉फरीदाबाद के मुख्य व्यक्तित्व

👉विजय यादव

👉अजय रात्रा

👉मोहित शर्मा

👉अजित चंदेला

👉 सोनू निगम

👉धानु सिंह

👉 ऋचा शर्मा

👉👉सूरदास

👉 इनका जन्म 1478 में सीही गांव में हुआ। इनको ज्ञान की प्राप्ति आगरा के निकट गऊ घाट से हुई। उनके पिता का नाम रामदास है। इनके गुरु का नाम बल्बाचार्य व हरिदास है। इनको हिंदी साहित्य के सूर्य कवि के नाम से भी जाना जाता है। ये ब्रज भाषा के एक श्रेष्ठ कवि रहे हैं।

👉👉जहांगीर

👉 जहांगीर का बचपन का नाम सलीम था। ये न्याय के लिए बहुत ही प्रसिद्ध थे। न्याय की जंजीर जहांगीर ने ही लगाई थी।

✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️

👉👉फरीदाबाद से जुड़े कुछ अन्य तथ्य

👉1500 MW गैस आधारित परियोजना

👉विशेष पर्यावरण न्यायलय

👉मैगपाई स्थल

👉सती का स्थान

👉अनागपुर धाम

👉सनबर्ड पर्यटन स्थल

👉निशानेबाजी अकेडमी

👉JBC निर्माण

👉अमर शहीदों का गाँव

👉सबसे अधिक जनसंख्या वाला जिला

👉सर्वाधिक उद्योग वाला जिला

👉मानव रचना इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी

👉बाबा फरीद टोम्प

📚📚📚📚📚📚📚📚

2 Replies to “फरीदाबाद विस्तार से”

Leave a comment