सबसे मुख्य जिला अम्बाला

जिला बना ~~ 1 नवम्बर 1966 अम्बाला शहर का नामकरण अम्बाला की स्थापना 14 वीं शताब्दी में अम्बा नामक राजपूत ने की थी। यहाँ आम की पैदावार अधिक होती थी इस लिए इसे अम्बवाला कहा जाता था, जो अब बिगड़कर अंबाला बन गया।           अम्बाला मण्डल में जिले         […]

Continue Reading

रोहतक विस्तार से

1 नवम्बर 1966       रोहतक का नामकरण कहा जाता है कि पहले रोहतासगढ़ (रोहतास का दुर्ग) कहलाने वाले रोहतक की स्थापना एक पंवार राजपूत राजा रोहतास द्वारा की गई थी। यहाँ 1140 में निर्मित दीनी मस्जिद है। समीप के खोकरा कोट टीले की खुदाई से बौद्ध मूर्तियों के अवशेष मिले हैं। दक्षिण पंजाब […]

Continue Reading

फरीदाबाद विस्तार से

स्थापना – 2 अगस्त 1979 हरियाणा का सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला साक्षरता दर –70 प्रतिशत उप-मंडल –फरीदाबाद, बल्लभगढ़ तहसील –फरीदाबाद, बल्लभगढ़ उप-तहसील –मोहना, तिगाँव खंड –फरीदाबाद, बल्लभगढ़ ✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️✳️ 👉👉फरीदाबाद का नामकरण 👉 इस शहर से पहले यहां एक गांव था, जिसमें 14वीं सदी के प्रसिद्ध साहित्यकार ईसरदास रहते थे। फरीदाबाद का नामकरण जहांगीर के कोषाधिकारी […]

Continue Reading

करनाल विस्तार से ……

स्थापना – 1 नवंबर 1966 जनसंख्या घनत्व – 597 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर उपमंडल –करनाल, असंध, इंद्री तहसील –करनाल, असंध, नीलोखेड़ी, इंद्री, घरौंडा उप-तहसील –निसिंग, बल्ला व निगंधु खंड –घरौंडा, इंद्री, करनाल, नीलाखेड़ी, चिड़ियाओं व असंध लिंगानुपात – 886/1000 साक्षरता दर – 44% करनाल का प्राचीन इतिहास प्राचीन समय में अंबाला और करना अलग जिले […]

Continue Reading

30 अगस्त करन्ट अफेयर्स 2019

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रियो 👉 दीपा मलिक ~ पैरालिंपिक-2016 में पदक जीतने वालीं पहली भारतीय महिला ऐथलीट दीपा मलिक को गुरुवार को राजीव गांधी खेल रत्न से सम्मानित किया। 19 में से 14 खिलाड़ियो को अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया। 👉हरियाणा के सोनीपत में जन्मीं दीपा मलिक ने 2016 में रियो पैरालिंपिक में […]

Continue Reading

कुरुक्षेत्र विस्तार से

कुरुक्षेत्र की स्थापना – 23 जनवरी 1973 क्षेत्रफल – 1530 वर्ग कि. मी उपमण्डल – थानेसर , पेहोवा , शाहबाद तहसील – थानेसर , पेहोवा , शाहबाद 👉👉👉👉 कुरुक्षेत्र के नामकरण कहा जाता है कि यहाँ स्थित विशाल तालाब का निर्माण महाकाव्य महाभारत में वर्णित कौरवों और पांडवों के पूर्वज राजा कुरु ने करवाया था। […]

Continue Reading